रायबरेली, नगर संवाददाता : जूनियर विद्यालयों में सालों से गणित और विज्ञान विषय के शिक्षकों का टोटा रहा है। शिक्षकों के रिक्त पड़े पदों को भरने के लिए अगस्त माह में भर्तियां निकाली गई थी। इन भर्ती के लिए शिक्षकों को ऑनलाइन आवेदन करना है, लेकिन इग्नू से बीएड करने वाले आवेदकों के लिए नौकरी के दरवाजे बंद नजर आ रहे है।

जिले के अशोक मिश्रा, पू...नम, छेदीलाल, अशोक कुशवाहा, संजय ने इग्नू से बीएड की परीक्षाएं पास की है। हाल में बेसिक शिक्षा विभाग में गणित और विज्ञान के शिक्षकों की भर्ती निकली। इस भर्ती में बीएड धारकों से आवेदन ऑनलाइन मांगे गए। फार्म भरने के बाद अंतिम रैगर में एक प्राप्तांक और पूर्णाक का ब्योरा मांगा गया। इग्नू की परीक्षाएं ग्रेड पर आधारित है। बीएड परीक्षा में सभी परीक्षार्थियों को प्राप्तांक और पूर्णांक देने के बजाय सिर्फ ग्रेड दे दिया गया।

इस कारण इग्नू बीएड धारकों को आवेदन करने में समस्याएं आ रही है। इस संदर्भ में इग्नू बीएड धारकों ने दिल्ली में बने इग्नू के मुख्यालय मैदान गड़ी में जाकर डायरेक्टर को अपनी समस्याओं से रू-ब-रू कराया। समस्या को सुनने के बाद डायरेक्टर की ओर से सिर्फ प्रयोगात्मक और लिखित परीक्षा में हासिल हुए ग्रेड के आधार पर प्रतिशत में बदल दिया गया।

इग्नू बीएड धारकों का कहना है कि प्रतिशत की जगह उन्हे प्राप्तांक और पूर्णाक दिए जाए। ऐसे में कई शिक्षकों की भर्ती निकली, लेकिन ग्रेड की समस्या के कारण इग्नू बीएड धारकों को रोजगार नहीं मिल सका।
 
Top