5 April 2014

हिंदी साहित्य का काल विभाजन



CTET 2015 EXAM NOTES


कविता की  दृष्टि से हिंदी साहित्य का काल विभाजन 

कविता के उद्देश्यों  के निर्धारण, कविता की शिक्षण अधिगम प्रक्रिया की समझ तथा काव्य के सौंदर्र्य  बोध के मूल्यांकन की दृष्टि से यह आवश्यक है कि पहले हिंदी कविता की विकास परंपरा  में समय-समय पर प्रचलित कविता से जुडी प्रवृतियों एवं वादो से परिचित हुआ जाए । 

कविता की  दृष्टि से हिंदी साहित्य का काल विभाजन इस प्रकार किया जाता है:

  • आदिकाल (1000 से 1400 ई.)
  • भक्तिकाल  ( 14000 से 1700 ई.)
  • रीतिकाल  (1700  से 1850 ई.)
  • आधुनिक काल  ( 1850 से अब तक )

आदिकाल (1000 से 1400 ई.)


भक्तिकाल  ( 14000 से 1700 ई.)


रीतिकाल  (1700  से 1850 ई.)


आधुनिक काल  ( 1850 से अब तक )


आधुनिक काल की तीन काव्य प्रवत्तियाँ इस प्रकार है। 
  1. छायावाद 
  2. प्रगतिवाद 
  3. प्रयोगवाद 

इन प्रवत्तियो की विस्तृत जानकारी के  अवश्ये पढ़े-   आधुनिक काल की काव्य प्रवत्तियाँ