CTET Exam Notes : Child Development and Pedagogy (CDP) 

in Hindi Medium 

Topic A(2) :  Principles of the development of children

बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र : बाल विकास के सिद्धांत 

विकास की प्रक्रिया निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है। यह जन्म से लेकर मृत्यु तक चलती रहती है। विकास की एक निश्चित दिशा होती है । यह सामान्य से विशेष की और बढ़ता है। यह विकास अनियमित रूप से नहीं होता है, बल्कि क्रमबद्ध, धीरे-धीरे व निश्चित समय पर होता है। यदपि विकास की गति व्यक्तिगत भिन्नता पर भी निर्भर करती है, लेकिन ऐसे सर्वमान्य सिद्धांत है जो विकास के हर क्षेत्र पर लागू होते है। विकास के मुख्ये सिद्धांत निम्नलिखित है-

1 - निरंतरता का सिद्धांत -

2 - विकास सामान्य से विशिष्ट की और चलता है। 

3 - विकास बहुआयामी होता है। 

4 - परस्पर सम्बन्ध का सिद्धांत 

5 - विकास बहूत ही लचीला होता है। 

6 - विकास प्रसांगिक हो सकता है। 

7 - व्यक्तिक अंतर का सिद्धांत 


अन्य महत्वपूर्ण सिद्धांत 

  • वृद्धि एवं विकास की गति की दर एक सी नहीं रहती । 
  • विकास की प्रक्रिया एकीकरण के  सिद्धांत का पालन करती है। 
  • वृद्धि और विकास की क्रिया वंशानुक्रम और वातावरण का संयुक्त परिणाम है। 

Post a Comment Blogger

 
Top