CTET Exam Notes : Child Development and Pedagogy (CDP) 

in Hindi Medium 

Topic  : Piaget's Theory Of Cognitive Development


बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र : पियाजे के संज्ञानात्मक विकास की संकल्पनाऐ 

पियाजे के अनुसार बच्चा अपने वातावरण के साथ अन्तक्र्रिया के परिणामस्वरूप ही सीखता है। संज्ञानात्मक विकास से तात्पर्य चिंतन में गुणात्मक  परिवर्तन से है तथा यह परिवर्तन पहले से उपसिथत संज्ञानात्मक संरचनाओं में अनुकूलन द्वारा होता है। यह परिवर्तन अपरिहार्य व अपरिवर्तनीय तथा जैव-निर्धरित होता है।
संक्षेप में पियाजे के अनुसार बालकों में वास्तविकता के स्वरूप में चिंतन करने, उसकी खोज करने, उसके बारे में समझ बनाने तथा उनके बारे में सूचनाएँ एकत्रित करने की क्षमता, बालक के परिपक्वता स्तर तथा बालक के अनुभवों की पारस्परिक अन्त: क्रिया द्वारा निर्धारित  होती है।बालक अपने विश्व की ज्ञान रचना में 'स्कीमा का प्रयोग करता है। 

स्कीमा ( Schema)

 स्कीमा , पियाजे , संज्ञानात्मक विकास, CTET Exam Notes, Child Psychology Notes

पियाजे द्वारा बालकों के संज्ञानात्मक विकास की व्याख्या हेतु बतार्इ गर्इ चार अवस्थाओं का संक्षेप में विवरण अवश्ये पढ़े- पियाजे का संज्ञानात्मक विकास सिद्धांत

Post a Comment Blogger

 
Top