CTET Exam Notes : Child Development and Pedagogy (CDP) in Hindi Medium 

Topic  : Individual differences among learners


मूल्यांकन


मूल्यांकन अध्यापन-अधिगम प्रक्रिया का एक महत्वपूर्ण अंग है । यह पढ़ाने में शिक्षको की तथा सीखने में विद्यार्थियों की मदद करता है। मूल्यांकन एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है न कि आवधिक । यह मुल्य निर्धारण में शैक्षिक स्तर अथवा विद्यार्थियों की उपलब्धियों को जानने में सहायक होता है।


अध्यापन-अधिगम प्रक्रिया में मूल्यांकन की भूमिका


अध्यापन-अधिगम प्रक्रिया में मूल्यांकन की महत्वपूर्ण  भूमिका होती है। नए उद्देशियो को तय करने , अधिगम अनुभव प्रस्तुत करने और विद्यार्थी की संप्राप्ति की जाँच  में मूल्यांकन- अधिगम काफी योगदान देता होता है। इसके अतिरिक्त शिक्षण और पाठ्य विवरण सुधरने में इसकी महत्वपूर्ण भूमिका होती है। यह समाज, अभिभावक और शिक्षा के ढांचे के प्रति उत्तरदायित्व को भी बताता है।

मूल्यांकन, मूल्य निर्धारण और मापन, अच्छे  मूल्यांकन की विशेषताएँ, मूल्यांकन की आवश्यकता और महत्व, अध्यापन-अधिगम प्रक्रिया में मूल्यांकन की भूमिका, CTET Exam 2015 Notes Hindi,  बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र, CDP Hindi Notes, सी टी ई टी नोट्स
अवश्य पढ़े: मूल्यांकन के प्रकार 

मूल्यांकन की आवश्यकता और महत्व 



अच्छे  मूल्यांकन की विशेषताएँ 





मूल्यांकन, मूल्य निर्धारण और मापन 



मूल्यांकन - " मूल्यांकन, किसी भी शैक्षिक कार्यक्रम के किसी भी एक पक्ष के विषय में सुचना एकत्र करना, उसका विश्लेषण और व्याख्या है जो इस की प्रभाविता, कुशलता अन्य परिणामो को परखने की मान्य प्रक्रिया का एक एक भाग है।" 

मूल्य निर्धारण- मूल्य निर्धारण का अर्थ है वे प्रक्रियाएं और सामग्री जो विद्यार्थियों की संप्राप्ति को मापने के लिए बनाई जाती है जबकि वें किसी न किसी प्रकार के शैक्षिक कार्यकम  हुए हो। इसका मुख्य कार्य ये मालूम करना है कि कार्यक्रम के उद्देश्य किस सीमा तक पुरे हुए। वास्तविकता में मूल्य निर्धारणका अर्थ मूल्यांकन की  की तुलना में संकुचित है पर मापन की तुलना में विस्तृत ।

मापन:



<<< बाल विकास एवं शिक्षाशास्त्र

नोट: आपको हमारी पोस्ट कैसी लगी, कृपया कमेंट करके ज़रूर बताए । 

Post a Comment Blogger

 
Top