CTET 2015 Exam Notes : Teaching of EVS in Hindi Medium


पर्यावरण-अध्ययन शिक्षण के उद्देश्य

यदि शिक्षा का उद्देश्य समझ का विकास है तो प्राथमिक शिक्षा में हम उस विकास की आधारभूमि ही तैयार कर सकते हैं। और यदि पर्यावरण-अध्ययन वह क्षेत्र है जो उपरोक्त विषयों को समाहित करता है, तो पर्यावरण-अध्ययन का शिक्षाक्रम इन सभी क्षेत्रों में वह आधारभूमि तैयार करने में समर्थ होना चाहिए और यही पर्यावरण-अध्ययन की जटिलता/समस्या है। ये विषय-क्षेत्र (विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, भूगोल एवं इतिहास) विभिन्न प्रकार की क्षमताओं की मांग करते हैं। इन विभिन्न मांगों को एक सूत्र में पिरोना कठिन जान पड़ता है। अतः शिक्षाक्रम निर्माता जानकारियों की सूची (जो बच्चों को पढ़ाना है) बनाकर छूट जाना चाहते हैं।
जानकारी के ढेर को हर विद्यार्थी एक सुव्यवस्थित और परस्पर सम्बन्धित ज्ञान के ढाँचे (Body of Knowledge) के रूप में व्यवस्थित नहीं कर पाता। अतः शिक्षक तथा विद्यार्थी दोनों का ध्यान केवल जानकारी एकत्र करने पर अटक जाता है। वे उसी को उद्देश्य समझने लगते हैं। लेकिन परस्पर असम्बद्ध जानकारी न तो व्यक्ति को निर्णय लेने में मदद करती है, न ही वह आगे विकास की आधारभूमि तैयार करती है।

पर यदि एक बार हम समझ-बूझकर स्वीकार कर लें कि हमारा उद्देश्य केवल जानकारी हस्तान्तरण नहीं है,
बल्कि उन मूल क्षमताओं का विकास करना है जो जानकारी एकत्र करने, ज्ञान के सृजन और उसके व्यावहारिक उपयोग को सम्भव बनाती हैं, तो इसके लिए रास्ते ढूँढना असम्भव नहीं है।

हमें लगता है कि पर्यावरण-अध्ययन के सभी घटक विषयों के साथ न्याय कर सकने वाला ढाँचा (framework) बन सकता है। इस ढाँचे के केन्द्र में अध्ययन की वैज्ञानिक प्रक्रिया को तथा उस से सम्बन्धित क्षमताओं को रखना होगा। मगर सांस्कृतिक पक्ष की समझ की बात पूरी तरह से वैज्ञानिक प्रक्रिया में नहीं आएगी। इतिहास बोध एवं भौगोलिक समझ के लिए भी इस ढाँचे में स्थान बनाना होगा। इन सबसे मिला कर वह बौद्धिक उपकरण बन जाएगा जिसका उपयोग परिवेश के सार्थक अध्ययन के लिए किया जा सकेगा। उल्लेखनीय है कि इस बौद्धिक उपकरण के विकास एवं आगे सतत् उपयोग से सम्बन्धित रूझानों/अभिवृत्तियों को उक्त ढाँचे में स्थान देना होगा।

इन सब बातों को ध्यान में रखते हुए यदि हम पर्यावरण-अध्ययन शिक्षण के उद्देश्यों को लिखें तो वे निम्न प्रकार के हो सकते हैं:

पर्यावरण-अध्ययन शिक्षण के उद्देश्य, ईवीएस शिक्षण, सीटीईटी हिंदी नोट्स, Best Free CTET Exam Notes, Teaching Of pedagogoy Notes, CTET 2015 Exam Notes, ctet EVS Study Material in hindi medium, CTET PDF NOTES DOWNLOAD, EVS PEDAGOGY Notes,

पर्यावरण-अध्ययन शिक्षण के उद्देश्य, ईवीएस शिक्षण, सीटीईटी हिंदी नोट्स, Best Free CTET Exam Notes, Teaching Of pedagogoy Notes, CTET 2015 Exam Notes, ctet EVS Study Material in hindi medium, CTET PDF NOTES DOWNLOAD, EVS PEDAGOGY Notes,

नोटआपको हमारी पोस्ट कैसी लगीकृपया कमेंट करके ज़रूर बताए  

Post a Comment Blogger

 
Top