CTET 2015 Exam Notes : Teaching of Mathematics in Hindi Medium


गणित का अर्थ

गणित अंक, अक्षर तथा चिन्ह आदि संक्षिप्त संकेतों का वह विज्ञान है जिसकी सहायता से परिणाम, दिशा और स्थान आदि का अच्छी तरह बोध हो सकता है दूसरें शब्दों में हम कह सकते है कि ‘‘गणित मापने, तौलने व गिनने से सम्बन्धित शब्दों की तालिका है जिसे प्रकृति की क्रियाओं को उचित सूझ बूझ द्वारा संकेतों की शब्दावली में परिवर्तित करके समझा जा सकता है।

उदाहरण के लिये कोई गणित को गणनाओ का विज्ञान (Science of calculations) कहता है कोई संख्याओं तथा स्थान विज्ञान के में परिभाषित करता है कोई मापन मात्रा और दिशा (आकार प्रकार) के विज्ञान के रूप में स्पष्ट करता है वास्तव में गणित का शाब्दिक अर्थ होता है वह शास्त्र जिसमें गणनाओं की प्रधानता हो। इस प्रकार हम मान्यताओं के आधार पर कह सकते है कि गणित अंक अक्षर चिन्ह आदि संक्षिप्त संकेतों का वह विज्ञान है जिसकी सहायता से दिशा परिणाम तथा स्थान का बोध होता है गणित की मानव जीवन का सच्चा आधार है। गणित ज्ञान के बिना मानव ज्ञान अधुरा है।

मैथेमेटिक्स शब्द ग्रीक (लैटिन भाषा) के मैथेमेटिक से लिया गया है जिसका अर्थ होता है सीखी जाने वाली वस्तुयें। गणित ने केवल जीवन (दिन प्रतिदिन) के प्रत्येक पहलू पर उपयोग किया जाता है जबकि यह ज्ञान की विभिन्न शाखाओं में प्रयुक्त होता है शिक्षाविद् एरीक टेम्पल बैल ने गणित को विज्ञान की रानी एवं नौकर माना है।

गणित की परिभाषायें - गणित की अवधारणा को निम्नलिखित परिभाषाओं से व्यक्त कर सकते है।

1. आइन्सटाइन के अनुसार - गणित क्या है? यह उसे मानव चिन्तन का प्रतिफल है जो अनुभवों से स्वतन्त्र है तथासत्य के अनुरूप है।

2. लाॅक के अनुसार - गणित वह मार्ग है जिसके द्वारा बच्चों के मन या मस्तिष्क में तर्क करने की आदत स्थापित होती है ।

3. वनार्डिशा के अनुसार - ‘‘तार्किक चिन्तन के लिये गणित एक शक्तिशाली साधन है।’’

4. यंग के अनुसार - ‘‘यदि समस्त विज्ञान में से गणित को हटा दिया जावे तो उसकी उपयोगिता शून्य हो जाती है।’’

5. मार्शल के अनुसार - ‘‘गणित ऐसी अमूर्त व्यवस्था का अध्ययन है जो कि अमूर्त तत्ववों से मिलकर बनी है इन तत्वों को मूर्त रूप में परिभाषित किया जाता है।’’

6. गैलिलीयों के अनुसार - ‘‘गणित वह भाषा है जिसमें परमेश्वर ने सम्पूर्ण जगत् या ब्रहाण्ड को लिख दिया है।’’

7. बैदांग ज्योतिष के अनुसार ‘‘जिस रूप में मयूरों के सिर, पर मुकुट शोभायान होते है तथा सर्पो के सिर पर मणियां वही सर्वोच्च स्थान वेदांग नाम से परिचित विज्ञानों में गणित का है।’’

8. लिण्डपें के अनुसार ‘‘गणित भौतिक विज्ञान की भाषा है ओर निश्चय की मानव मस्तिष्क होते है सर्पो अन्य कोई भाषा नही है।’’

गणित का अर्थ, गणित शिक्षण, सीटीईटी हिंदी नोट्स, Best Free CTET Exam Notes, Teaching  of Maths pedagogoy Notes, CTET 2015 Exam Notes, ctet Mathematics Study Material in hindi medium, CTET PDF NOTES DOWNLOAD, Mathematics PEDAGOGY Notes,उपर्यंुक्त परिभाषाओं का निष्कार्ष इस प्रकार निकलता है कि
1. गणित तार्कित विचारों का विज्ञान है।
2. गणित विज्ञान का अमूर्त रूप है।
3. गणित में सम्पूर्ण संसार जगत विद्यमान है।
4. गणित के द्वारा दिशा व स्थान का बोध होता है।
5. गणित आगमनात्मक तथा प्रायोगिक विज्ञान है।
6. गणित में गणनाओं की प्रधानता होती है।
7. गणित माध्यम से आवश्यक निष्कर्ष प्राप्त होते है।
8. गणित का अध्ययन करने से मस्तिष्क में तर्क करने की आदत बनती है।
9. गणित समस्त विज्ञानों की जननी है।

नोटआपको हमारी पोस्ट कैसी लगीकृपया कमेंट करके ज़रूर बताए  

Post a Comment Blogger

 
Top