CTET 2015 EXAM NOTES IN HINDI MEDIUM

निरिक्षण विधि (Observation Method)



विज्ञान विषय  अध्ययन के लिए निरिक्षण विधि एक उत्तम विधि है ।  विज्ञान में तो निरिक्षण विधि का महत्व अन्य समस्त विधियों  सर्वाधिक है । किन्तु इसका प्रयोग अन्य विषयो में भी सहजता से किया जा सकता है । उदहारण लिए झरने, नदी, पहाड़, पत्थर, खनिज, वनस्पति आदि का यथार्थ ज्ञान निरिक्षण विधि दुआरा प्राप्त किया जा सकता है ।
निरिक्षण विधि से अध्ययन में जीवंतता बनी रहती है । इससे इन्द्रिय ज्ञान संभव होता है, जिससे विषय के सभी पहलुओ का ज्ञान प्राप्त होता है । 

निरिक्षण विधि निम्न तरीको दुआरा दी जा सकती है । 

विज्ञान संग्रहालय:-


विज्ञान शिक्षण को सार्थक तभी बनाया जा सकता है जबकि विद्यार्थियों को पढ़ाई गई वस्तुओं का वास्तविक अनुभव कराया जाये। विज्ञान शिक्षण का एक मुख्य उद्देश्य यह है कि विद्यार्थियों को संसार की विभिन्न वस्तुओं से तथा उनकी प्रगति से परिचित कराना जिसमें वे रहते है। विज्ञान संग्रहालय में पदार्थों, नमूनों तथा प्रतिमानों को संग्रह किया जा सकता है।
निरिक्षण विधि (Observation Method) , निरिक्षण विधि के गुण एवं सीमाएं, विज्ञान भ्रमण, विज्ञान संग्रहालय,  , सीटीईटी हिंदी नोट्स, Best Free CTET Exam Notes, Teaching Of pedagogoy Notes, CTET 2015 Exam Notes, ctet Study Material in hindi medium, CTET PDF NOTES DOWNLOAD,  PEDAGOGY Notes,

विज्ञान भ्रमण:-

शिक्षा में विद्या प्राप्ति के उद्देश्य से पर्यटन का विशेष महत्व है। बालकों को घूमने में आनंद आता है।

विज्ञान भ्रमण से लाभ:-

1. इसमें प्रकृति को यथार्थ रूप में देखने का अवसर मिलता है।
2. इसके फलस्वरूप विद्यार्थी बाहर की वस्तुओं, मनुष्यों और नाना प्रकार की स्थितियों के सम्पर्क में आता है।
3. इससे निरीक्षण शक्ति तीव्र होती है।
4. इसमंे विद्यार्थी अपने ज्ञान को संगठित कर सकता है।
5. इसके द्वारा विद्यार्थी में स्वयं कार्य करने की आदत पड़ जाती है।

निरिक्षण विधि के गुण एवं सीमाएं 

निरिक्षण विधि (Observation Method) , निरिक्षण विधि के गुण एवं सीमाएं, विज्ञान भ्रमण, विज्ञान संग्रहालय,  , सीटीईटी हिंदी नोट्स, Best Free CTET Exam Notes, Teaching Of pedagogoy Notes, CTET 2015 Exam Notes, ctet Study Material in hindi medium, CTET PDF NOTES DOWNLOAD,  PEDAGOGY Notes,



नोटआपको हमारी पोस्ट कैसी लगीकृपया कमेंट करके ज़रूर बताए  

Post a Comment Blogger

 
Top