भारत की जनसँख्या


एक मार्च, 2001 को भारत की जनसंख्या एक अरब 2 करोड़ 80 लाख (532.1 करोड़ पुरुष और 496.4 करोड़ स्त्रियां) थी। बीसवीं शताब्दी की शुरुआत में भारत की आबादी करीब 23 करोड़ 84 लाख थी।
भारत की जनसंख्या की गणना 1901 के पश्चात हर दस साल बाद होती है। इसमें 1911-21 की अवधि को छोड़कर प्रत्येक दशक में आबादी में वृद्धि दर्ज की गई। वर्ष 1991-2001 की जनगणना अवधि में दौरान केरल में सबसे कम 9.43 और नगालैंड में सबसे अधिक 64.53 प्रतिशत जनसंख्या वृद्धि दर्ज की गई।

जनसंख्या घनत्व- जनसंख्या घनत्व को प्रति वर्ग किमी. क्षेत्र में लोगों की संख्या से परिभाषित कर सकते हैं। 2001 में देश में आबादी का घनत्व 324 प्रति वर्ग किमी. था। सन 1991 से 2001 के मध्य राज्यों और केद्रशासित प्रदेशों में जनसंख्या के घनत्व में वृद्धि हुई।
  •     सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व वाला राज्य - पं. बंगाल (903 व्यक्ति प्रति किमी.)
  •     सर्वाधिक जनसंख्या घनत्व वाला केंद्रशासित प्रदेश- दिल्ली (6,319 व्यक्ति वर्ग किमी.)
  •     सबसे कम जनसंख्या घनत्व वाला राज्य- अरुणाचल प्रदेश (10 व्यक्ति/वर्ग किमी.)
  •     सबसे कम जनसंख्या घनत्व वाला केंद्र शासित क्षेत्र-अंडमान और निकोबार केंद्र शासित राज्य- (34 व्यक्ति/वर्ग किमी.)
लिंगानुपात -
लिंगानुपात को इस रूप में परिभाषित किया जाता है कि प्रति 1000 पुरुषों के अनुपात में स्त्रियों की संख्या कितनी है। इससे एक निश्चित समय में समाज में स्त्री-पुरुषों के बीच संख्यात्मक समानता का आंकलन किया जाता है। देश में लिंगानुपात हमेशा स्त्रियों के प्रतिकूल रहा है। बीसवीं शताब्दी के आरंभ में यह अनुपात 972 था। 2001 में यह घटकर मात्र 933 ही रह गया।

भारत की अनुमानित जनसंख्या

भारत की जनांकिकीय में काफी ज्यादा विविधता है। भारत चीन के बाद दुनिया का सबसे जनसंख्या वाला देश है। अप्रैल 2010 में भारत की अनुमानित जनसंख्या 1.18 अरब थी। भारत की जनसंख्या कुल विश्व की जनसंख्या का छठवां भाग है। ऐसा अनुमान है कि 2025 तक भारत चीन को पछाड़ कर दुनिया का सबसे अधिक जनसंख्या वाला देश बन जाएगा। इसकी जनसंख्या 2050 तक 1.6 अरब तक पहुँच जाएगी। लेकिन इतनी विशाल जनसंख्या होने के बावजूद भी भारत को एक बहुत बड़ा लाभ है। 

भारत की 50 प्रतिशत से भी अधिक जनसंख्या 25 वर्ष से कम आयु की है जबकि 65 प्रतिशत से अधिक जनसंख्या 35 वर्ष से कम आयु की है। ऐसी आशा की जा रही है कि 2020 तक भारतीयों की औसत आयु 29 वर्ष होगी। इसकी तुलना में चीनियों की औसत आयु 37 वर्ष और जापानियों की औसत आयु 48 वर्ष होगी। भारत में दो हजार से भी अधिक जातीय समूह और दुनिया के चारों बड़े धर्म के अनुयायी यहां भारी संख्या में मौजूद हैं। दुनिया के चार बड़े भाषा परिवार- इंडो-यूरोपीय, द्रविड़, आस्ट्रो-एशियाटिक और तिब्बती-बर्मी भाषाओं के बोलने वाले भी यहां भारी संख्या में मौजूद हैं।


भारत की जनसँख्या, सामान्य ज्ञान, General Knowledge in Hindi Medium, GK notes for competitive exam Free Study Material PDF Download.

जहां तक भाषाई, आनुवंशिक और सांस्कृतिक विविधता का संबंध हैं केवल अफ्रीकी महद्वीप ही इस मामले में भारत से आगे है।

भारत की जनांकिकीय: महत्वपूर्ण तथ्य

जनसंख्या    

1,180,166,000 (2010 की अनुमानित)

वृद्धि दर    

1.548 फीसदी

जन्म दर    

22.22 जन्म प्रति 1000 जनसंख्या (2009 अनुमानित)

मृत्यु दर    

6.4 मृत्यु प्रति 1000 जनसंख्या (2009 अनुमानित)

आयु प्रत्याशा    

69.89 वर्ष (2009 अनुमानित)
  •     पुरुष    67.46 वर्ष (2009 अनुमानित)
  •     महिला    72.61 वर्ष (2009 अनुमानित)
आयु संरचना
  •     0-14 वर्ष    31.1 प्रतिशत 
            (प्रति पुरुष 1,90,075,426 
            महिला 1,72,799,553) (2009 अनुमानित)
  •     15-64 वर्ष    63.6 प्रतिशत 
            (प्रति 381,446,079 पुरुष 
            महिला 359,802,209) (2009 अनुमानित)
  •     65 या अधिक     5.3 प्रतिशत 
            (प्रति पुरुष 29,364,920 
            महिला 32,591,030) (2009 अनुमानित)
लिंगानुपात
  •     जन्म के समय    1.12 पुरुष प्रति एक महिला (2009)
  •     15 वर्ष से कम    1.10 पुरुष प्रति एक महिला (2009)
  •     15-64 वर्ष    1.06 पुरुष प्रति एक महिला (2009)
  •     65 वर्ष से ऊपर    0.90 पुरुष प्रति एक महिला (2009)

<<सामान्य ज्ञान

Post a Comment Blogger

 
Top