12 September 2018

UPTET टेट वैलिडिटी में घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है विवेक से काम लें। हर टेट उत्तीर्ण के लिए यह पोस्ट इम्पोर्टेन्ट है, NCTE के काउंटर में PARA 13 में जो लिखा गया है वो

UPTET टेट वैलिडिटी में घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है विवेक से काम लें। हर टेट उत्तीर्ण के लिए यह पोस्ट इम्पोर्टेन्ट है,  NCTE के काउंटर में PARA 13 में जो लिखा गया है वो

1) टेट वैलिडिटी में घबराने की कोई आवश्यकता नहीं है विवेक से काम लें। हर टेट उत्तीर्ण के लिए यह पोस्ट इम्पोर्टेन्ट है।
.

.
2) NCTE के काउंटर में PARA 13 में जो लिखा गया है वो नो डाउट यूपी के लिए घातक है। NCTE ने PURSUING को जैसे डिफाइन किया है वो खतरनाक है।
.
.
3) NCTE ने अपने ही 11.02.2011 के नोटिफिकेशन के क्लॉज़ 5(ii) को केवल अपने हिसाब से डिफाइन करने के बजाए हाइकोर्ट और शासनादेशों को भी सम्मिलित करते हुए कहा है कि-
A persuing candidate means candidate *who has completed programme* but he might have not appeared in the final exam or he might be appearing in the final exam or he might be appeared in the final exam or he might have passed the final exam.
.
.
4) यहां पर आप बाकी सब बाते भूलकर केवल इस पर फोकस कीजिये - *who has completed programme*
NCTE ने बाद में इस पर जोर देते हुए कहा है कि
PURSUING = atleast that the curriculum part of the training is formally over
.
.
5) यानी पहला चौथा सेमेस्टर छोड़िये, NCTE ने कहा है कि पुरसुइंग का मतलब होता है कि आपके प्रशिक्षण का जो curiculum है वो पूरा हो जाना चाहिए यानी 4th सेमेस्टर के अंदर भी केवल वो योग्य है tet देने के जिसका 4th सेमेस्टर का पाठ्यक्रम पूरा हो गया हो।
.
.
6) किसी भी statutory प्रोविशन को डिफाइन करने के लिए दो रास्ते होते हैं - purposive interpretation और literal interpretation.
.
.
7) अभी तक 11.02.2011 नोटिफिकेशन के क्लॉज़ 5(ii) वाले pursuing के मतलब को देखें तो सभी ने इसको यहां तक कि NCTE ने भी purposively interpret किया है literally नहीं।
.
.
8) इस सब पर डिटेल्ड पोस्ट( https://goo.gl/6ttaMV) हम पहले ही कर चुके हैं जिसका लिंक हम इसी पोस्ट में लास्ट में PS में दे देंगे। उसे पढ़ेंगे तो सब समझ आजायेगा कि purposive और literal इंटरप्रिटेशन क्या है और कोर्ट में क्या करना है।