14 January 2020

हिन्दी साहित्य का इतिहास।।

हिन्दी साहित्य का इतिहास।।

Image result for study notes"

आदिकाल (650 ई. - 1350 ई.)


=>  हिंदी साहित्येतिहास के विभिन्न कालों के नामकरण का प्रथम श्रेय जॉर्ज ग्रियर्सन को है। 

=>  आरंभिक काल के नामकरण का प्रश्न विवादास्पद है। 

इस काल को विभिन्न नाम दिए गए हैं --

चारणकाल                                 --      ग्रियर्सन   
प्रारंभिक काल                            --      मिश्र बंधु  
बीजवपनकाल                     --  महावीर प्रसाद द्विवेदी 
आदिकाल: वीरगाथा काल           --      रामचंद्र शुक्ल 
सिद्ध - सामंत काल                  --   राहुल सांकृत्यायन 
'संधि काल' व 'चारणकाल'         --      रामकुमार वर्मा 
आदिकाल                           --   हजारी प्रसाद द्विवेदी 

=>  आदिकाल में तीन प्रमुख प्रवृत्तियाँ मिलती हैं -
१.  धार्मिकता
२.  वीरगाथात्मकता
३.  श्रृंगारिकता

=>  प्रबंधात्मक काव्यकृतियाँ : रासो काव्य, कीर्तिलता, कीर्तिपताका।
       मुक्तक काव्यकृतियाँ : खुसरो की पहेलियाँ, सिद्धो नाथों की रचनऐं, विद्यापति की पदावली इत्यादि।

=>  विद्यापति ने कीर्तिलता व कीर्तिपताका की रचना अवहट्ट में और पदावली की रचना मैथली में की।

=>  आदिकाल में दो शैलियां मिलती हैं -
१.  डिंगल (कर्कश शब्दावली )
२.  पिंगल (कर्णप्रिय शब्दावली )       **(आगे चलकर ब्रजभाषा में विगलन हो गया )


. Click here to join our FB Page and FB Group for Latest update and preparation tips and queries

https://www.facebook.com/tetsuccesskey/

https://www.facebook.com/groups/tetsuccesskey/

No comments:

Post a Comment